Thought of the day

Sunday, 20 July 2008

विश्वास मत – ज्योतिषीय विश्लेशण

आखिरकार, समर्थन वापस ले ही लिया। वह दिन आ ही गया जिसे मैं वर्षों से देख रहा था।

राजनैतिक भविष्यवाणी करना हमेशा जोखिम भरा काम है। यहाँ लकीर के फकीर बहुत हैं।

वाजपेयी जी जब एक मत से हारे थे तो, समेत मेरे, सभी ने उनके जीतने की बात की थी। सच यह भी है के वे विश्वास मत हारने के बाद भी पदासीन रहे और अगला कार्यकाल भी पूरा किया। वह अब इतिहास है – समझने योग्य।

मेरे पिताजी आज दोपहर को सहज ही पूछ बैठे कि 22 जुलाई 2008 को क्या रहेगा! जो मैंने देखा वह आपके लिए भी प्रस्तुत है।

विश्वास मत मनमोहन सिंह जी ही जीतेंगे। आज उनके यहाँ रात्रिभोज पर क्या रहा, मैं अभी तक नहीं जानता। कुछ मित्र और विरोधियों की परिभाषाएँ बदल चुकी हैं, कुछ बदल जाएँगी। मामला बहुत नज़दीकी होगा।



Related Articles:


6 comments:

  1. शायद आप की बात ही सही हो।

    ReplyDelete
  2. एक दिन की बात बची है मित्र. आपकी भविष्यवाणी सत्य हो, शुभकामनाऐं. देशहित में भी यही सही रहेगा.

    ReplyDelete
  3. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  4. बन्धु
    बेहतर होता यदि आप अपने मत के समर्थन में कोई ज्योतिषीय तर्क देते।
    फिर भी आपने पढा और अपनी विवेचना दी उसके लिए आभार।

    ReplyDelete
  5. दोस्त, मैं कोई ज्योतिषी नहीं हूँ !

    ReplyDelete
  6. Bhavishya wani to aapki such ho gayi. Badhaee !

    ReplyDelete

Thanks for your comments
Sanjay Gulati Musafir

Copyright: © All rights reserved with Sanjay Gulati Musafir